Sunday, 6 May 2018

Motivation.....



Police training 









विषय के अलावा कौनसी पुस्तक पढ़ें?

विषय के अलावा कौनसी पुस्तक पढ़ें?

बहुत से लोग समझते हैं कि सिर्फ सिलेबस पढ़ लेने से चयन हो जाएगा ,शायद हो भी जाए पर मेरा मानना है कि अन्य भी कई किताबें ना सिर्फ व्यक्तित्व विकास के लिए बल्कि नकारात्मक भावनाए जो तैयारी के दौरान आती हैं उनको रोकने के लिए और अपने आत्म विश्वास को बढ़ाने के लिए आवश्यक हैं।

प्रत्येक व्यक्ति जो तैयारी करने वाले लोग हैं उन्हें कुछ ना कुछ पढ़ने की आदत अवस्य होनी चाहिए और कुछ पुस्तकों का संग्रह भी अवश्य होना चाहिये।
व्यक्ति पुस्तकों से ना सिर्फ अपने ज्ञान को बढ़ाता है बल्कि जीवन को जीने के तरीके भी सीखता है।जब कभी बहुत ज्यादा निराश हों,जिंदगी में उदास हों,संघर्ष का कोई मतलब ना दिखाई दे तब सबसे पहले अपने सबसे अच्छे दोस्त पुस्तक को ही याद करिये।

सबसे अच्छी मित्र पुस्तक होती है।

मैं कुछ अच्छी पुस्तकों की लिंक दे रहा हूँ जिन्हें पढ़कर मुझे चयन में काफी मदद मिली।

1) डार्क हॉर्स (एक अनकही दास्तान)
fhttps://amzn.to/2rrW5Qf

2)माय लाइफ माय जर्नी
https://amzn.to/2rqGq3N

Saturday, 5 May 2018

How to prepare for prelims/प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

How to prepare for prelims/प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी प्रारंभ करने वालों को निम्न बिन्दुओं पर ध्यान देना चाहिए।

  1. तैयारी कभी भी सिर्फ pre की नही की जाती है बल्कि तैयारी मुख्य परीक्षा की होती है जिससे pre स्वमेव निकलता है।दरअसल pre का मतलब लोग सिर्फ फैक्ट्स(तथ्य) पढ़ना समझते हैं जबकि pre भी इतना विस्तृत होता है कि गहन अध्ययन की अपेक्षा रखता है ।यदि आप सालभर सिर्फ तथ्य पढ़कर pre क्वालीफाई कर भी गए तो मेंस में लुटिया डूब जाएगी।इसलिए विस्तृत अध्ययन जरूरी है
  2. Pre के लिए मुख्यतया विद्यार्थियों के मन में एक समझ डेवलप होनी चाहिए कि सिलेबस के अनुसार कहाँ से प्रश्न आते है ? अतः किसी भी परीक्षा की तैयारी करते समय पिछले कुछ वर्षों के पेपर्स देखकर प्रश्नों और उनके आने वाले क्षेत्रों का मूल्यांकन कर लेना चाहिए।
  3. तैयारी एक सतत प्रक्रिया है जिसमे व्यक्ति स्वयं को प्रतिदिन इम्प्रूव करता है इसलिए जो भी टॉपिक पढ़ें उससे संबंधित कमसे कम 30 प्रश्न वस्तुनिष्ट और 2 प्रश्न वर्णनात्मक हल कर लेना चाहिये।
  4. विषय को रटने से ज्यादा समझने पर प्रयास करें कोसिस करें कि किसी भी टॉपिक का एक खाका मन मे रहे।जैसे मान लेते हैं कि यूरोपियों का भारत आगमन टॉपिक हमने पढ़ा तो हमारे मन में पुर्तगालियों का ये खाका होना चाहिए कि वास्कोडिगामा से लेके फैक्टरी की स्थापना , कोचीन और कन्नूर से लेके प्रिंटिंग प्रेस ,आलू की खेती और गोथिक कला आदि इनकी देंन है।तो हमे फैक्ट के साथ साथ विस्तृत रूप से चीजें पता होनी चाहिए।
  5. प्रतिदिन कमसे कम 30 प्रश्न वस्तुनिष्ट सॉल्व करने की आदत होनी चाहिए,किसी एक मैगज़ीन को फॉलो करिये,और क्रिएटिव बने रहने की कोसिस करिये।
  6. विषयों को बदल बदल कर पढ़ें ,जैसे कि 2 घंटे किसी एक विषय को पढ़ने के बाद किसी दूसरे विषय को पढ़ना चाहिए।
  7. पढ़ाई को हमेशा मनोरंजन और आकर्षण के साथ करना चाहिए।
  8. कभी भी अध्ययन को बोझ ना समझें बल्कि ये समझ कर चलें कि हमे अच्छा मौका मिला है इन चीजों को जानने और समझने का।
  9. कभी किसी को दिखाने के लिए ना पढ़ें बल्कि स्वयं का मूल्यांकन करते रहें कि पिछले दिन से आज कुछ बेहतर हैं या नही।
  10. मेहनती लोगों की कभी हार नही होती।मैं अपने किसी ब्लॉग में एक शेड्यूल बनाकर भेजूंगा की कितना कब कैसे पढ़ें?
  11. यदि आपने कोई टॉपिक पढ़ लिया है तो उससे सम्बंधित कितने भी प्रश्न हों और किसी भी स्तर के हों आपसे बनने चाहिए।
  12. अध्ययन को विषयवार बांटने के बाद टॉपिकवाइस बांट लें।
  13. यदि कोई चीज याद नही हो रहा है तो कई बार पढ़ें यदि फिर भी नही हो रहा है तो यू ट्यूब पर उससे सम्बंधित कोई वीडियो देखें या विस्तृत रूप से समझने के लिए किसी अन्य पुस्तक का सहारा लें।
  14. दोस्तों एक मुख्य बात और कि जब मैं भी तैयारी प्रारंभ कर रहा था तो बहुत से लोगों ने कहा था कि इतने सारे लोग फॉर्म भरते हैं,इतने सारे लोग तैयारी करते हैं सबका नही होता,18  घंटे पढ़ना पड़ता  है तो बड़े बड़े ज्ञानचंद अपना ज्ञान झाड़के चले गए और मुझे लगा कि मैं तो 18 घंटे पढ़ भी नही पाता फिर भी लगा कि एक बार अच्छे से try करके देखते हैं और पहले प्रयास में ही चयनित हो गया तो कभी भी लोगों की बातों से निराश ना हों बल्कि स्वयं की मेहनत पर भरोसा रखें।
  15. जय हो विजय हो ।लगातार लगे रहिये।

Which book to buy /कौनसी पुस्तक खरीदें


कौनसी पुस्तक खरीदें

विद्यार्थियों के लिए खुशखबरी

दृष्टि संस्थान दिल्ली ने सभी ncert का अच्छे से अध्ययन कर उनकी बुकलेट निकाली है इससे एकदम प्रारंभिक विद्यर्थियों को काफी मदद मिलेगी।इन्हें ऑनलाइन जरूर खरीदें मै स्वयं उसी संस्थान से पढ़ा हूँ।और मध्यप्रदेश की सारी कोचिंग्स से बहुत ज्यादा बेहतर है।




1) निबंध के लिए सबसे अच्छी पुस्तक जो ना सिर्फ निबंध में काम आती है बल्कि उत्तर लेखन में भी बहुत महत्वपूर्ण है। निबंध दृष्टि इसकी लिंक नीचे दी गयी है


https://amzn.to/2KG1axk
2) इतिहास की पुस्तक

https://amzn.to/2rozCnj


3)भूगोल की पुस्तक

https://amzn.to/2HS5coA

4)विज्ञान की पुस्तक

https://amzn.to/2KCrSGQ


5)इतिहास एवं भारत एवं विश्व का भूगोल

https://amzn.to/2rmThns

6)राजव्यवस्था(polity)
https://amzn.to/2KENH8U

Guidance for mppsc/ मार्गदर्शन

Guidance for mppsc/ मार्गदर्शन

Guidance for mppsc/ मार्गदर्शन
Guidance for mppsc/ मार्गदर्शन

Friday, 4 May 2018

How much focus is important in current..../समसामयिकी पर कितना ध्यान देना आवश्यक है।

How much focus is important in current for mppsc

Strategy for mppsc

देखिये सबसे पहले ये जानना जरुरी है कि करेंट क्यों पढ़ा जाता है ?और कब पढ़ा जाता है? नए नए विद्यार्थी आके पूछने लगते हैं कि सर कौनसी मैगज़ीन और कौनसा पेपर पढ़ना ठीक रहेगा?
द हिन्दू, जनसत्ता, दैनिक जागरण, नई दुनिया, दृष्टि, क्रोनिकल,प्रतियोगिता दर्पण आदि आदि।

तो मित्रों मैं आपको बता दूं कि करेंट पढ़ने के लिए पारंपरिक विषयों का ज्ञान बहुत जरूरी है तब आप उसे कनेक्ट कर पाएंगे। जैसे कि मान लेते हैं कि पेपर में आया है कि सरकार अध्यादेश लेके आयी तो आपको पता होना चाहिए कि अध्यादेश कैसे लाया जाता है अनुच्छेद 123 और 213 क्या है? तब आप अच्छे से समझ पाएंगे की वास्तविकता में चल क्या रहा है।

कुछ पत्रिकाओ में ज्ञानवर्धक विषयों पर लेख आते हैं जो उत्तर लेखन में बेहद उपयोगी होते हैं अतः उनको पढ़कर ये जरूर ध्यान रखना चाहिए कि इसका प्रयोग कहाँ पर कर पाएंगे? किसी उत्तर में या निवन्ध में।

प्रिलिम्स के लिए करेंट पढ़ना आवश्यक है और कुछ पत्रिकाओं में प्रश्नों के संग्रह भी आते हैं अतः उनको भी सॉल्व करते रहें।
करेंट को पढ़ते समय विद्यार्थियों को ये ध्यान में जरूर रखना चाहिए कि क्या पढ़ना है और क्या नही पढ़ना है?

इसका सबसे सरल उत्तर यह है कि सिलेबस को हमेशा देखते रहें और सम्बंधित कुछ आंकड़े,रिपोर्ट,सर्वे,जानकारी आदि आती है तो उसे नोट कर लें।
लगातार पढ़ाई की आदत डाल लें और पढ़ने की आदत ही मददगार बनेगी।

जय हो विजय हो
How much focus is important in current....

How to remember facts for mppsc/किसी भी चीज को कैसे याद रखें?

How to remember facts for mppsc

Strategy

बहुत से लोगों का ये प्रश्न रहता है कि मैं कुछ भी पढता हूँ पर याद नही रहता ,मैं किसी भी विषय को कैसे याद रखूं।

तो मैं आप सभी को बता दूं याद रख पाना या ना रख पाना हमारे मनोविज्ञान से संबंधित है । हम जैसा सोचते हैं वैसा बनते चले जाते हैं ,यदि आप सोचोगे की आपको याद नही होता तो सही में याद नही होगा यदि आप सोचते हो कि आपको याद होता है तो सही में याद होगा।

रहस्य नामक rhonda byrne की पुस्तक है जिसका सार यही है कि हम अपने आसपास जैसे विचार रखते हैं उसी प्रकार का संव्यवहार विकसित कर लेते हैं और वैसे ही बनते चले जाते हैं।जैसे कि यदि कोई तैयारी करने वाला छात्र सोचे कि मेरा तो हो ही नही सकता क्योंकि न जाने कितने लोग फॉर्म भरते हैं फिर pre देते हैं फिर mains और फिर इंटरव्यू ,तो इतनी सारी भीड़ में मेरा कोई स्थान ही नही है।जबकि हमे तैयारी करते समय सिर्फ ये सोचना चाहिए कि हमे सिर्फ एक सीट की आवश्यकता है बांकी से हमे क्या मतलब की कितने लोग फॉर्म भरते हैं इत्यादि।

तो मित्रों याद करने के लिए एक ट्रिक याद रखें कि जब भी पढ़ें तो ये सोचके पढ़ें की मुझे एक बार में याद हो जाएगा हो सकता है कि एक बार मे ना हो पर दूसरी बार ये सोचके पढ़ें की मेरा स्तर गिर रहा है और मुझे एक बार मे क्यों याद नही हुआ तो और ताक़त के साथ पढ़ें।

याद करते समय किसी ना किसी चीज से कोरिलेट(संबंध बनाकर) पढ़ाई करें। लिस्ट आदि को याद करते समय एक बार अच्छे से पढ़ लें जिसमें अजीव से कीवर्ड वाले अपने आप याद हो जाते हैं और बांकियों को दुबारा पढ़ें और अपना एक हाथ उसपर रखकर याद करने की कोसिस करें।

अपनी व्यक्तिगत याद रखने की ट्रिक बनाएं और उसे किसी कॉपी में लिख लें। याद करते समय अपने एक दो मित्रों के साथ बैठे और स्वयं को चैलेंज करें कि एक घंटे में कमसे कम 3 पन्ने याद करने हैं इस क्रम में 2 पन्ने तो आसानी से हो ही जाएंगे और फिर मित्रों से पूछने के लिए कहें। याद की हुई सामग्री के प्रश्नोत्तर सॉल्व करने से चीजें ज्यादा याद होती हैं क्योंकि अगर कोई प्रश्न पढ़ी हुई चीज से नही बनता है तो व्यक्ति उसे और अच्छे से याद रखने की कोसिस करता है।
आप ये भी सोचिये की स्वामी विवेकानंद जी में ऐसा क्या था जो उन्हें एक बार पढ़ने पर याद हो जाता था मानाकि हम विवेकानंद नही हैं पर वंशज तो उन्ही के हैं।मतलब उन्ही की धरा धाम के निवासी हैं।

लगातार लगे रहिये ।

जय हो विजय हो।
How to remember facts for mppsc

Motivation.....

Police training